top of page
Search

Risk और हौसला - एक साहसिक इंसान बनने के लिए ज़रूरी 2 तत्त्व। | Best inspirational blog

एक हौसलायुक्त व्यक्ति होना एक gambler होने से बहोत different है। जबकि ये सब चीज़े जीवन में risk उठाने के लिए ज़रूरी है, किसी को भी उन्हें आज़माने से पहले उन risk का calculation कर लेना चाहिए जो हम कुछ नया करने में लेने वाले होते है।

अगर risk लेने में खतरा ज़्यादा हो तो ये समज लीजिये की अफसोस करने से बेहतर होगा सुरक्षित रहे। गंभीर risk लेने से पहले ऐसा सोचोगे की "मिला तो सब कुछ या कुछ भी नहीं" ऐसे रवैये से सहस दिखाना अच्छा तरीका नहीं होता। हौसलायुक्त होने का मतलब यह नहीं है कि आप पागल बन जाओ। यह वो जानने के लिए है कि क्या देखना और समझना है और क्या अनदेखा करना है। अपने हौसले पर भरोसा रखे और अपने risk के सामने अपनी क्षमताओं का calculation करें। अपनी बात पर या अपने लिए किये गए निर्णयों पर हंमेशा कायम रहें। कम से कम, हमेशा हर जगह अपनी बात रखने की कोशिश करें। सफलता सरासर किस्मत से ज़्यादा होती है जिसमे किस्मत से ज़्यादा हमारे सहस और action लेने की ताकत मायने रखती है। इसके लिए खुद पर विश्वास करने और अपने plannings को खुद ही बनाने की आवश्यकता होती है। जब आप अपनी बात को गंभीरता से लेंगे और खुद पर विश्वास करेंगे, तो दूसरे भी आप पर विश्वास रखेंगे। ये सब ऐसी things हैं जिन्हें आप ठुकरा नहीं सकते, जो महान विचार के रूपमे आपके risk और हौसले की ताकत को शत प्रतिशत सफल बना सकती है। जीवन में, आप कुछ जीतते हैं और कुछ हारते हैं। जब आप जीते तो खुश रहें। लेकिन जब आप हारे तो कुछ भी खो जाने पर पछतावा नहीं होना चाहिए। जीवनमें कभी भी पीछे मुड़कर न देखें। क्योकि आप अतीत को या फिर जो हो चूका हो उन्हें बदल नही सकते, लेकिन आप future में आने वाली चीजों को बहेतर बना सकते हैं। जो भी आपके सपने हैं, उनके लिए सहस जुटाए और आगे बढ़े। Unexpected और अनियमित risks से सावधान रहें, लेकिन फिरभी आपको जीत और सफलता के स्वाद को चखना है तो risk या कठनाइयां आनी ही है तब आपको उनका सामना हंमेशा अपने काम की और दटे रह कर और पुरे सहस के साथ करना होगा।

“Be audacious about chasing your dreams and goals, calculate the risks, take risks, have no regrets even if you fail and if you win then enjoy yourself.”

2 views0 comments

Comments


bottom of page