top of page
Search

Motivational Story in Hindi | गलत काम का कैसा नतीजा? | Inspirational Blog | Motivational Kahani

Motivational Story in Hindi | गलत काम का कैसा नतीजा? | Inspirational Blog | Motivational Kahani #motivationalblogs #motivationalstory #motivationalstoryhindi


एक बार दो आदमी अपने दिल में पछतावे को लेकर एक ज्ञानी इंसान के पास गए। उन्होंने कहा, "हमने गलत किया है जिससे हमारी अंतरात्मा परेशान है। क्या आप हमें बता सकते हैं कि हमारे अपराध से छुटकारा पाने के लिए क्या करना चाहिए?”

"वत्स, मुझे अपने गलत काम के बारे में बताओ।" ज्ञानी इंसान ने कहा। पहले आदमी ने कहा, "मैंने एक बड़ा और दर्दनाक पाप किया है।"


"और तुमने क्या किया है?" साधु ने दूसरे से पूछा। "ओह," उन्होंने कहा। "मैंने कई गलत काम किए हैं, लेकिन वे सभी बहुत छोटे हैं लेकिन फिर भी पछतावा हैं जो पीछा नहीं छोड़ता।"


ज्ञानी इंसान ने एक पल के लिए सोचा और कहा, "आप दोनों को अपने प्रत्येक बुरे काम के लिए एक पत्थर लाना होगा।" थोड़ी देर बाद, पहला आदमी एक बड़ी चट्टान लेकर आया और उसे बड़े गौरव के साथ ज्ञानी इंसान के चरणों में रख दिया। तभी एक और दूसरा आदमी छोटे पत्थरों से भरा एक छोटा सा थैला लेकर आया और ज्ञानी इंसान के चरणों में भी रखा।


उसके बाद वे ज्ञानी इंसान बोले, "अब, इन सभी पत्थरों को ले लो और उन्हें वापस वहीं रख दो जहां से लाए गए थे।"


पहले आदमी ने अपनी बड़ी चट्टान को वापस अपने कंधों पर उठा लिया और बड़ी मेहनत से उसे वापस वहीं ले गया जहां से वह लाया था। लेकिन दूसरे आदमी को बहुत सारे पत्थर होने की वजह से सिर्फ़ कुछ ही पत्थरों की जगह पता थी बाकि सब कहां थे वह याद नहीं था। कुछ देर बाद वह वापस आया और कहा कि यह काम बहुत मुश्किल है।


फिर, उस बुद्धिमान व्यक्ति ने उन्हें इस प्रकार सलाह दी:

यदि किसी व्यक्ति ने कोई बड़ा पाप किया है, तो वह उसकी चेतना पर भारी पत्थर की तरह रहता है; लेकिन अगर वह वास्तव में अपनी गलती का पश्चाताप करता है तो उसे माफ कर दिया जाता है और उसका बोझ हट जाता है। लेकिन, अगर कोई व्यक्ति बार-बार गलत करता रहता है, तो उसे अपराध का बोझ महसूस नहीं होता है और इसलिए वह बार बार गलत चीज़ें करता रहता है।


छोटे पापों से बचना उतना ही महत्वपूर्ण है जितना कि बड़े पाप से।


कहानी से कहने का मतलब यह है, कि अगर जाने अनजाने में एक बार कोई गलत काम आपसे हो गया, और आपको अपनी अंतरात्मा में अजीब महसूस हुवा तब तुरंत पश्चाताप करके उसे सुधार लें। अगर नहीं सुधारेंगे तो उसे छिपाने के लिए आप और गलत चीज़ें करेंगे जिससे आपके गलत काम बढ़ते चले जाएंगे। और आखिर में एक ऐसा समय आएगा जहां आप न तो अपनी गलत चीज़ों को छिपा पाएंगे और न ही गलत कामों को छोड़ पाएंगे। ज़िंदगी भर आपकी गलतियां आपका पीछा करती रहेगी जो आपको कभी चैन से रहने नहीं देगी।


इसलिए अभी तक की आपकी ज़िन्दगी में कुछ गलत आपसे हो गया हो या अभी कोई गलत चीज आपसे वर्तमान में हो रही हो तो अभी भी वक्त है संभल जाइए और सुधार लीजिये अपनी गलतियों को। अगर अभी तक आपने कुछ गलत नहीं किया तो यह बहुत अच्छी बात है ऐसे ही ज़िन्दगी में आगे बढ़ते रहें और कुछ भी गलत करने का खयाल भी आपके दिमाग में आये तो वही पर उस खयाल को रोक दें, संभल जाएं और अपने जीवन को बिना किसी बोझ या बिना किसी पछतावे के साथ बिताएं। यही जीवन सफल जीवन कहा जाता है।


14 views0 comments

Comments


bottom of page