top of page
Search

Motivational Story in Hindi | हड़बड़ी किसी काम की नहीं | Motivational Blogs in Hindi

Motivational Story in Hindi | हड़बड़ी किसी काम की नहीं | Motivational Blogs in Hindi #motivationalblogs #motivationalstory #motivationalstoryhindi


मताजुरा(Matazure) एक महान तलवार बाज बनना चाहता था लेकिन उसके पिता ने कहा कि वह काफी तेज़ नहीं है और कभी सीख भी नहीं पाएगा।

लेकिन माताजुरा दृढ़ निश्चयी था इसलिए उन्होंने उस समय के प्रसिद्ध तलवारबाज़ बेंजो(Banzo) से संपर्क किया और खुदको उनका शिष्य बनाने के लिए कहा।


उन्होंने बेंज़ो से पूछा, "मुझे आपकी तरह काबिल और तेज तलवार बाज़ बनने में कितना समय लगेगा? अगर मैं आपके सेवक के तौर पर यहां पल-पल आपके साथ रहूँ तो क्या होगा?”

"दस साल," बेंजो ने जवाब में कहा।

मताजुरा ने फिर पूछा, "मेरे माता-पिता बूढ़े हो रहे हैं। दस साल के भीतर उनकी देखभाल के लिए मुझे घर लौटना होगा। अगर मैं दोगुनी मेहनत करूं तो मुझे कितना समय लगेगा?"

"तीस साल," बेंजो ने कहा।

माताजुरा ने पूछा, "वह कैसे? पहले आपने दस साल कहा और जब मैंने दोगुनी मेहनत की बात की तो आपने उससे तीन गुना ज्यादा कहा! मैं स्पष्ट करता हूं। मैं लगातार काम करूंगा; मेरे लिए कोई परेशानी नहीं होगी। तो कितना समय लगेगा?"

"सत्तर साल," बेंजो ने कहा।

और जब फिर से मताजुरा ने पूछा, "ऐसा क्यों?" तो उसके कारण भी बताए।

"एक इंसान जो शिष्य बनके जितना जल्दी में सीखना चाहेगा उतना वह सब चीजें समझने और सीखने में ज्यादा देरी करेगा," बेंजो ने कहा। क्योंकि हड़बड़ी की अड़ में सीखने की प्रक्रिया धीमी हो जाती है क्योंकि उतावलेपन का सहारा लेकर सीखने वाला मन, अशांत और अस्वथ बन जाता है जिसके चलते वह सीखने से ज्यादा तनावग्रस्त और उदास होता जाता है। और अगर वह समान गति से और समय अनुसार धीरे धीरे सीखता जाएगा तो उनका मन शांत और स्वस्थ होगा जिस वजह से उसे ज्यादा देर भी नहीं होगी और अपने आप खुदको जो भी सीखना हो उसमें ज्यादा मशगूल होता हुआ पाएगा, जिसके चलते वह जो भी हुनर सीखना चाहता है उसे बेहतर ढंग से सीख कर खुदको उस्ताद बनता हुआ पाएगा।


"चाहे सीखना हो या कोई काम करना, आप उसे करने की हड़बड़ी में उसे और बिगाड़ देंगे। इससे बेहतर तो यह है कि आप जो कुछ भी सीखते या करते हैं, उसे एक निश्चित कार्यक्रम के साथ सही तरीके से करें, तो निश्चित रूप से आपको बेहतरीन से बेहतर परिणाम मिलेंगे।"


"Whether it is learning or doing any work, you will spoil it more in the rush to do it. Better than this, whatever you learn or do, do it correctly with a fixed schedule, then surely you will get better than the best results."


148 views1 comment

1 Comment


stuart jack
stuart jack
May 22, 2023

Thanks for covering most of your experience in blog. Sure this will be very useful for those needed.


<a href="https://www.hyd7am.com/">Latest News Updates</a>


Like
bottom of page