top of page
Search

Moral Story in Hindi | जैसा बोएं वैसा पाएं | Motivational Story in Hindi with Moral | Get What U Sow

Moral Story in Hindi | जैसा बोएं वैसा पाएं | Motivational Story in Hindi with Moral | Get What U Sow #motivationalblogs #motivationalstory #motivationalstoryhindi


एक ऐसा भिखारी जो घोर गरीबी में रहता था। वह फटे-पुराने कपड़े पहनता था और अक्सर भूखा रहता था। कुछ उदार लोग उसे ज्यादा कुछ नहीं बस चावल के दाने या तांबे का सिक्का दे देते थे।

एक दिन उसे पता चला कि राजा स्वयं उसके रथ पर सवार होके उसी रास्ते से आने वाले है। वह भिखारी राजा की प्रतीक्षा में सड़क पर निकल पड़ा।


जब राजा आये तो भिखारी भीख मांगने लगा। राजा ने उसे कुछ भी देने के बजाय हाथ बढ़ाया और भिखारी से खुद को कुछ देने को कहा। भिखारी ने राजा की इस हरकत से बहुत निराश होकर अपने कटोरे में से चावल के केवल तीन दाने गिने और गुस्से में उन्हें राजा के हाथों में रख दिया।


बदले में राजा ने उपहार के रूप में अपने कटोरे में कुछ फेंक दिया। भिखारी ने उत्सुकता से राजा द्वारा दिए गया उपहार देखा। तो चावल के ढेर में उसे कुछ चमकीला, दाने के आकार का मिला। उसने ध्यान से देखा तो पता चला यह शुद्ध सोना है। फिर उसने तलाशी ली तो उसे सोने के दो और दाने मिले। लेकिन उसके बाद उसने कई बार खोजा, लेकिन सोने जैसा और कुछ नहीं मिला।


तब उसे सच्चाई का पता चला, कि राजा ने चावल के तीन दानों के बदले में सोने के केवल तीन दाने दिए। फिर सोचने लगा "मैं कितना मूर्ख हूँ," उसे बहुत पछतावा हुआ, "अगर मुझे पता होता, तो मैं उसे चावल का पूरा कटोरा दे देता।" लेकिन अब क्या कर सकता था? राजा तो अब आगे चले गए।


कहानी तो भिखारी की व्यथा की है लेकिन अगर इसे समझने की कोशिश करें, तो यह सिख मिलेगी, कि आप जो बोएंगे वही पाएंगे। आपको बिना कुछ लिए कभी कुछ नहीं मिलता। यह न केवल आध्यात्मिक दृष्टि से सच है, बल्कि भौतिक क्षेत्र में भी यही नियम लागु होता है।


बचपन से लेकर वर्तमान तक आपने जो भी किया उसे याद करके ध्यान से देखेंगे तो खुद ब खुद आप पाएंगे कि पढाई के दौरान परीक्षा का समय आता है तो आपने ठीक से पढ़ा होगा, सही से तैयारी की होगी तो अच्छे मार्क्स आए होंगे।


पढाई के बाद सही से इंटरव्यू दिया होगा तो अच्छी नौकरी मिली होगी। नौकरी में भी अच्छा काम किया होगा तो आगे प्रमोशन भी मिला होगा।


फिर अगर कुछ खुद का शुरू करने की सोचें और अपनी काबिलियत के हिसाब से सही तरीके से मेहनत की होगी तो एक सफल बिजनेसमैन भी बन पाए होंगे।


यह इतने तक ही सीमित नहीं है, चाहे कोई भी क्षेत्र हो हर जगह आप जितना खुदको अच्छा काम में लाएंगे उतना बड़ा मुकाम आप खुद के लिए पाएंगे। इसे बदले का नियम कहा जाता है जो हर जगह ठीक वैसे ही काम करता है।


"जीवन के साथ भी और जीवन के बाद भी एक नियम ऐसा है जो हर जगह एक जैसे ही काम करता है, आप जैसा बोएंगे वैसा आप पाएंगे।"


"There is a rule with life and even after life, which works the same everywhere, you will get what you sow."


56 views0 comments

Comments


bottom of page