top of page
Search

Do keep FAILING and You Will SUCCEED | Best motivational video for Success, Students & Entrepreneurs

Do keep FAILING and You Will SUCCEED | Best motivational video for Success, Students & Entrepreneurs in Hindi #motivationalblog #failuremotivation #successmotivation #selfgrowth


हम से हर कोई इंसान goal ऐसे choose करता है जो अपने मन, काबिलियत, knowledge, interest या फिर hobby के हिसाब से हो। फिर उसके बाद हम goal को हासिल कैसे किया जाए उनकी planning करते हैं। और planning के हिसाब से जो भी चीज़ें हमें चाहिए उन्हें साथ में ले कर आगे बढ़ने की शरुआत करते हैं।

अब समज़लें की शरुआत बेहद अच्छी हो भी जाए लेकिन इसका मतलब ये नहीं की हम एक ही कोशिश में goal तक पहुंच ने की पूरी journey को पर करलें। कहीं crores में एकाद case ऐसा होगा जो एक ही ज़टके में अपने goal को हासिल करने में कामियाब रहा हो। बाकि तो goal कभी कोई भी इंसान एक ही ज़टके में हासिल नहीं कर पता हैं, ये सुनने में शायद negative लगे लेकिन यह negative नहीं बल्कि एक कड़वी सच्चाई हैं।


आप, हम या कोई भी इंसान अपने goal तक अवरोध और मुश्किलों का सामना किए बिना नहीं पहुंच पता। मतलब कि अगर आपको अपने सपनों को साकार करना हैं तो ठोकरें खाने के लिए भी तैयार रहना होगा। नए-नए अंजान challenges भी आपको face करने पड़ेगे। और यहाँ तक की आप ऐसी situation में भी आ कर फ़स सकते हैं जहां आपको लगेगा की सब ख़त्म हो गया! यानि ऐसी कदार पर आकर खड़े होने की नौबत भी आ सकती हैं जहाँ आपको बेहद मेहनत करने के बावज़ूद भी सब zero हो जाएं और आपको सब कुछ फिर से पहले से start करना पड़े।


वैसे तो यह situation बुरी नहीं होती। क्योंकि, अगर हम इसे positive way से देखें तो यह हमारे लिए हमको मिली हार में से हमारी गलती find out करने का मौका हैं, जिसे हमें सुधार कर फिर से उसी दिशा में एक और try करनी चाहिए जो हमें नए experience और नई सिख के साथ हमारे goal की ओर नए तरीके से आगे बढ़ाएगी।


लेकिन यह try भी नकामियाबी ही ले कर ऐ तो! यानि इसमें भी हम goal तक न पहुंच पाए तो! और बिच में ही कोई बड़ी परेशानी आएं और हम फिर से हार का सामना कर zero पर आ कर खड़े हो जाएं तो!


तो इस situation का भी यही जवाब हैं की आप फिर से उठ खड़े हो और फिर से यह दूसरी हार में से भी आप सिख हासिल कर, साथ ही, अपनी इससे भी पुरानी हार से मिली सिख के साथ जोड़ कर एक और बार try करें, एक और बार नए experience और नई सिख के साथ आगे बढ़ें। क्या पता शायद इस बार मिलने वाली जीत आपको अलग ही happiness provide करें!


लेकिन इसमें भी ज़रूरी नहीं नहीं, कि जीत ही मिलें आप फिर से हार भी सकतें हैं किसी न किसी और नई परेशानी खड़ी होने की बजह से! तो तब क्या करें? अब पहले तो आप एक बात अपने अंदर बसा कर रख दें की आपको अगर अपने goal की और जीत पानी हैं तो आपको बार-बार अपनी हर एक हार से नई-नई सिख लेकर कोशिशें करते ही रहना होगा। उनके आलावा और कोई चारा ही नहीं हैं। और साथ ही आपको जितनी हार मिले उसे अपनी नकमियाबी नहीं बल्कि अपनी कामियाबी की ओर आगे बढ़ने के लिए मिला नया lesson समज़नी होगी।


हर एक हार को अपनी नई सिख समझें और "बस एक कोशिश(try) और..." इस sentence को याद कर फिर से शरुआत करें। एक बात याद रखें की Thomas Alva Edison इस दुनिया को bulb के प्रकाश से रोशन करने में तभी कामियाब हुए थे जब उन्होंने 1000 प्रयोग यानि 1000 कोशिशें की थी, जिनमे से 999 फ़ैल कोशिशों को उसने bulb न जलने के lesson के रूप में accept किया और उन सभी नाकाम कोशिशों से मिली सिख से 1000 वि कोशिश को उसने कामियाब बनाया।


हर एक नई कोशिश में आपको बार बार नाकमियाबी मिलने के आसार होंगे ही होंगे और आप हार का सामना भी ज़रूर करेंगे लेकिन इन्हें आप अपनी किस्मत समझ कर बैठे न रहे, बार बार अपने goal की और नई शरुआत करें। और एक बात अपने ज़हन में गहराइयों तक बैठालें की कोई एक कोशिश तो ऐसी होगी-होगी जो आपको अपने goal तक पहोंचा कर आपको कामियाब करेंगी ही करेंगी। बस हर असफल प्रयास के बाद यह sentence को याद कर उन्हें follow करें की, "बस एक कोशिश(try) और..."


"Regardless of the defeat, you get in the race for success, then do it instead of being desperate, just one more try..."


11 views0 comments

Comentarios


bottom of page