top of page
Search

Best motivational short story in Hindi | यह कहानी है उनके लिए जिन्हें जल्दी गुस्सा आ जाता है।

Best motivational short story in Hindi | यह कहानी है उनके लिए जिन्हें जल्दी गुस्सा आ जाता है। #motivationalblogs #motivationalstory #motivationalstoryhindi


केरल के एक गांव में एक बूढ़े इंसान थे जो अपने शांत स्वभाव के लिए जाने जाते थे। कभी किसी पर गुस्सा नहीं करते और हमेशा अपने आपको खुश पाते थे। लेकिन गांव के सभी लोगों को बड़ा कौतूहल बना रहता था, कि कभी तो कुछ ऐसा होगा जिससे वे बुजुर्ग गुस्सा करेंगे।

एक दिन कुछ मस्तीखोर लोगों ने फैसला किया कि वे उन्हें गुस्सा दिलाएंगे। वह एक बदमाश इंसान के पास गए, और उसे कहा कि अगर वह उस बूढ़े इंसान को चिढ़ा सकता है तो उसे 1000 रुपये मिलेंगे।


वह बुजुर्ग रोज सुबह नदी में नहाने जाते थे। और यह सब मस्तीखोर लोग उस बदमाश के साथ वहां नदी के किनारे कहीं छिप गएं। जैसे ही बुजुर्ग नदी से बाहर आए, वह बदमाश उसके पास आया और उसके मुंह पर थूक दिया। जैसे ही थुंका, वह बुजुर्ग बस मुस्कुराए और नदी में एक और डुबकी लगाने के लिए वापस चले गये। दूसरी बार जब वे नदी से बाहर निकले तो उस बदमाश ने उन पर फिर से थूंका। वे बुजुर्ग फिर हँसे और एक और डुबकी लगाने के लिए वापस चले गए।


यही चीज बार बार होती रही, शायद 50 बार तक हो चुकी होगी। आखिरकार वह बदमाश निराश हो गया और उसने थूकना बंद कर दिया। अपनी इस बेहूदा हरकत से पछताकर वह उस बूढ़े इंसान के चरणों में गिर पड़ा और उससे माफी मांगी। और वह मस्तीखोर लोग भी जहाँ छिपे थे वहां से बाहर आ गए और बुजुर्ग से माफी मांगी।


उनमें से एक इंसान, जिसे विश्वास नहीं हो रहा था कि एक इंसान वह भी बुजुर्ग इतना सहनशील कैसे हो सकता है! उसने बुजुर्ग से पूछा, "आपने इस बदमाश की घिनौनी हरकत को कैसे बर्दाश्त कर लिया?"


उस बुजुर्ग ने शांति से जवाब दिया ... आखिर वह एक बच्चा है!

और हम बच्चों से प्यार करते हैं। हम उनकी परेशानियों को माफ कर देते हैं और उन्हें प्यार करना जारी रखते हैं। उसी तरह, अगर हम इस दुनिया में सभी को प्यार और हमदर्दी दिखा सकते हैं, तो किसीके पास हमें गुस्सा दिलाने या उकसाने की कोई वजह नहीं होगी। लेकिन, इस तरह की सहनशीलता पाना आसान नहीं है। इसके लिए निरंतर ऐसे ही बने रहना पड़ता है जिसके लिए काफी मेहनत लगती है।


इस कहानी से कहने का मतलब यह है, कि आपको बहुत सरे ऐसे लोग मिलेंगे अपने जीवन में, या मिलते भी होंगे जो आपको किसी न किसी तरीके से आपको चिढ़ाने, परेशान करने या बेइज्जत करने की कोशिश करेंगे। लेकिन उनकी कोशिश तब कामयाब होती है जब आप उनकी हरकतों का पलटवार करें, उनसे आप चिढ़ें या उन पर अपना गुस्सा उतारें। जैसे ही आप प्रतिकार करेंगे वो लोग आपको और ज़्यादा चिढ़ाने की या बेइज़्ज़त करने की कोशिश करेंगे।


इससे अच्छा आप उनकी हरकतों को नज़रअंदाज़ करें, उन्हें किसी भी तरह का पलटवार न करें। इससे जो आपको चिढ़ाने आया होगा वह अपने आप खुद से चिढ़ता रहेगा और बार बार ऐसा होता देखकर खुदको भी बेइज़्ज़त पाएगा और आपको चिढ़ाना बंद कर देगा।


जिस तरह से में आपको यह बता रहा हूँ, लगता तो आसान है लेकिन करना मुश्किल है! पर अगर आप कोशिश करेंगे तो ज़रूर धीरे धीरे आप इसे आसान बनाते जाएंगे। लेकिन इस तरह की मानसिकता अपनाने के लिए शुरुआत करना बेहद जरूरी है। शुरुआत होगी तो अंजाम होगा।


धन्यवाद!


"Tie the teasing, the teasers themselves will go away."


20 views0 comments

Comments


bottom of page