top of page
Search

जब हारने का डर लगे तब ये बात हंमेशा याद रखे। | Adaptable formula to overcome fear | Hindi motivation

जब भी हम जीवन में किसी भी क्षेत्र में नया काम या नया innovation या फिर कुछ अलग सहस करने जाते है तब हम इस उम्मीद के साथ इस काम को करते है की हमें इसमें सफलता मिलेगी ही मिलेगी और हम किसी भी तरीके से इसमें जित हासिल करेंगे।

लेकिन कही बार दर्भाग्य वश हमारी उम्मीद के अनुसार चीजे नहीं होती और हार का सामना करना पड़ता है। जब ऐसी स्थिति आती है तब हमारे अंदर बहोत सारे डर पैदा होने लगते है, हमें हमारी काबिलियत पर शक होने लगता है, ऐसा लगने लगता है मानो सब कुछ खत्म हो गया हो। उस वक्त क्या करे हमारी कुछ समज में नहीं आ रहा होता। और कभी ऐसा भी होता है की इसकी बजह से हम depression का शिकार होने लगते है। और कही सारे diseases पैदा होने लगते है। बेबजह तरह-तरह के भ्रम होने लगते है। अब हम अगर इस से उभरना चाहे तो एक रास्ता है। दिमाग में एक सूत्र बनाये रखना की "I'm a born winner." इसका मतलब है, "में जन्म से ही विजेता हुं।" यानि की हम जीवन में कभी भी हारे हुवे नहीं होते। जबसे हमने इस धरती पर जन्म लिया तब से हम विजेता है। अब आप सोच रहे होंगे, "वो कैसे?" हमने ऐसा क्या किया? तो सुनिए, जब हम as a human being पैदा होते है, उस से पहले हम एक छोटे से कण के रूप में होते है। और वह कण बनने के लिए हमें लाखो कोशो की race में first आना पड़ता है। तभी हम एक human कण बन सकते है। और उसके बाद हमारे शरीर का निर्माण होता है और हम जन्म लेते है। तो अब सोचिये लाखो कोशो को पीछे रखके हम इंसान बन कर जन्म ले कर इतने बड़े बनते है। तो क्या हम जन्म से ही विजेता नहीं है!! जब भी आप हारे, तब यह याद रखे की आप एक इंसान है। और इंसान होना ही एक बहोत बड़ा विजेता होता है तो छोटी-मोटी हार हमारे सामने क्या चीज़ है!! इसीलिए कभी ऐसी हार मिलते रहने से उदास न होना। बस एक sentence अपने अंदर बनाये रखना की "I 'm a born winner."["में जन्म से ही विजेता हुं।"] . इसी को अपने ज़हेन में बसाके रखिये और हार का सामना डट के करते रहे, फिर आप खुद देखना की एक समय ऐसा आएगा जब बहोत बड़ी जित आपके कदमो में होगी।

"What kind of loss in work and life? How sorry? As human beings, We are Born Winners!!"

1 view0 comments

Comentários


bottom of page